असमहिन्दी

भा.वि.प्रा. के गुवाहाटी परिसर में हिन्दी कविता पाठ प्रतियोगिता संपन्न

गुवाहाटी। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, क्षेत्रीय मुख्यालय, उत्तर-पूर्वी क्षेत्र, गुवाहाटी द्वारा नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (उपक्रम), गुवाहाटी के तत्वावधान में न.रा.का.स के सदस्य कार्यालयों के लिए हिन्दी कविता पाठ प्रतियोगिता आयोजित की गयी।

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री सनमुख जुगानी, क्षेत्रीय कार्यपालक निदेशक, भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण ने की।

अपने संबोधन में श्री जुगानी ने कहा कि न.रा.का.स के तत्वाधान में भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा आयोजित इस कविता पाठ प्रतियोगिता द्वारा राजभाषा का प्रचार प्रसार बढेगा। एक तरह से हिंदी हम सभी में समाहित है और हम सब हिंदी में।

H1

इस प्रकार के आयोजन से राजभाषा का मान और सम्मान बढ़ता है। इस मुख्यालय के अधिनस्थ सभी कार्यालयों में भी हिंदी के प्रचार प्रसार पर विशेष ध्यान दिया जाता है , जिसका परिणाम है कि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, क्षेत्रीय मुख्यालय गुवाहाटी को केंद्रीय गृह मंत्रालय, राजभाषा विभाग द्वारा हिंदी में उत्कृष्ट कार्य हेतु प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

H2

नराकास के सदस्य कार्यालयों (उपक्रमों) से आए प्रतिभागियों ने इस कविता पाठ प्रतियोगिता में भाग लिया, जिसमें प्रथम, द्वितीय, तृतीय तथा सांत्वना पुरस्कार के साथ साथ सभी प्रतिभागियों को भी सहभागिता पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया।

इस प्रतियोगिता के निर्णायक मंडली को श्री बदरी यादव, डॉ कुसुम कुंज मालाकार व श्री ज्ञान बत्तरा ने सुशोभित किया। सभी निर्णायकों ने प्रतिभागियों द्वारा किए गए कविता पाठ की सराहना करते हुए उनसे राजभाषा हिंदी के प्रचार प्रसार में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने को कहा।

H3

श्री बदरी यादव, क्षेत्रीय प्रमुख, भारत सरकार, राजभाषा विभाग, गुवाहाटी ने अपने संबोधन में कहा कि सभी प्रतिभागी, जिन्होंने आज कवि- कवयित्री के रूप में अपनी प्रस्तुति दी तथा जिन लोगों ने भी अपनी रचना रखी वो सभी अच्छे थे।

उन्होंने कहा, ‘कविता एक फूल के समान होती है जिसमें सुगंध, आकर्षण के साथ साथ रस भी घुला होता है जो अपनी तरफ आकर्षित करता है। इसकी प्रस्तुति इतनी मनमोहक होती है कि यह आपको प्रफुल्लित कराती है’।

H4

इस सफल और सुव्यवस्थित आयोजन के लिए श्री बदरी यादव ने भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को धन्यवाद् देते हुए अपना आभार भी व्यक्त किया।

डॉ. कुसुम कुंज मालाकार, विभागाध्यक्ष, हिंदी विभाग, कॉटन विश्वविध्यालय, गुवाहाटी, असम ने कहा कि कविता आपके मन की अभिव्यक्ति है. कविता पाठ आपको खुलकर अपनी बात और भावनाओं को व्यक्त करने अवसर देता है, साथ ही इसकी अच्छी प्रस्तुति भी एक कला है. सभी प्रतिभागी और आयोजको को भी उन्होंने धन्यवाद् दिया।

H5

हिन्दी कविता पाठ प्रतियोगिता का शुभारंभ राजभाषा विभाग के श्री धीरज कुमार शर्मा, श्रीमती रूमी कलिता व श्रीमती अनुप्रिया डे ने सरस्वती वंदना गा कर किया।

इस हिन्दी कविता पाठ प्रतियोगिता का आयोजन राजभाषा विभाग द्वारा किया गया जिसका संचालन व समन्वय श्री अरविन्द कुमार तिवारी, वरिष्ठ प्रबंधक द्वारा किया गया। प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए उन्होंने सभी प्रतिभागियों, निर्णायक मंडली को धन्यवाद दिया।

यह भी देखेंः जरुरत पड़ी ताे असम के लिये जान भी देने काे तैयार हूंः आईपीएस आनंद मिश्रा

Related Articles

Back to top button