असमहिन्दी

4 साल की बेटी काे छाेड़कर ULFA-I में शामिल हुए पति-पत्नी

असम में ULFA-I के प्रति बढ़ रहा युवा वर्ग का आकर्षण

प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन ULFA-I द्वारा संगठन में नये सदस्याें की भर्ती अब भी जारी है।

चंद राेज पहले संगठन ने पुलिस का गुप्तचर हाेने के आराेप में अपने ही संगठन के दाे सदस्याें काे मृत्युदंड दिया था।

इस बीच बताया जा रहा है कि तिनसुकिया जिले के काकपथार के सेलेंगुरी गांव के दंपती अच्युत नेओग और उनकी पत्नी ममता नेओग कथित तौर पर ULFA-I में शामिल हाे गये है।

गत 5 मई से ही दाेनाें अपने घर से रहस्यमय तरीके से गायब हाे गये।

आपकाे बता दें कि उनकी 4 साल की बेटी भी है, जाे कि अब अपने दादा के पास है।

अच्युत नेओग के पिता ने पत्रकाराें से कहा कि उनका एकमात्र बेटा अच्युत गत 5 मई को एक फोन कॉल आने के बाद घर छोड़कर चला गया, कुछ समय बाद ही उसकी पत्नी ममता भी उसी समय घर से बाहर चली गईं।

तिनसुकिया जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने फाेन पर अच्युत के पिता काे उसके ULFA-I में शामिल हाेने की खबर की पुष्टि की है।

आपकाे बता दें कि ULFA-I के प्रमुख परेश बरुवा समय-समय पर मीडिया में वीडियाे वार्ता के जरिये संगठन से जुड़ें कईं दावें सार्वजनिक करते आये हैं।

लगातार संगठन के प्रति युवा वर्ग के बढ़ते रुझान काे लेकर असम के मुख्यमंत्री हिमन्त बिश्व शर्मा ने भी गहरी चिंता जताई है।

साथ ही देखेंः जरुरत पड़ी ताे असम के लिये जान भी देने काे तैयार हूंः आईपीएस आनंद मिश्रा (Anand Mishra)

anand mishra

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button